थीम चुनें   box box box box    
 
 
 
    

द्वारका जिला न्यायालय का इतिहास

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका की नींव दिनांक 11-05-2003 को रखी गई थी। द्वारका न्यायालय का उद्घाटन दिनांक 06-09-2008 को भारत के माननीय मुख्य न्यायाधीश श्री के.जी. बालकृष्णन द्वारा किया गया था। इस न्यायालय ने दिनांक 08-09-2008 से कामकाज आरंभ कर दिया था। द्वारका स्थित अदालतों में दक्षिण-पश्चिम जिला तथा इंदिरा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से संबंधित मामले निपटाए जाते हैं। द्वारका जिला न्यायालय परिसर में विभिन्न अदालतें जैसे दीवानी, फौजदारी, मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण, परिवार न्यायालय कार्य कर रही हैं।

    3.70 है. क्षेत्र में फैला हुआ द्वारका न्यायालय परिसर, सैक्टर-10, द्वारका, नई दिल्ली में स्थित है। यह मैट्रो व सड़क परिवहन द्वारा शहर के अन्य हिस्सों से जुड़ा है।  

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में 79 न्यायालय कक्ष हैं। वर्तमान में 45 न्यायालय कार्य कर रहे हैं। सभी न्यायालय कक्षों में अधिवक्ताओं / वादियों / गवाहों / आगंतुकों के बैठने के लिए पर्याप्त स्थान है।   

      विभिन्न तलों पर स्थित अदालतों में जाने के लिए रैंप उपलब्ध करवा कर जिला न्यायालय परिसर, द्वारका को शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्तियों के लिए अनुकूल बनाया गया है। लिफ्टों में व्हीलचेयर्स को समायोजित करने के लिए पर्याप्त स्थान है। शौचालय सुविधाओं को भी विकलांगों के अनुकूल बनाया गया है।

      वादियों और अधिवक्ताओं को उनके मुकदमों, विभिन्न अदालतों आदि से संबंधित जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए तथा एक अग्र कार्यालय के रूप में कार्य करने के लिए जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में एक सुविधा केन्द्र स्थापित किया गया है।

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में परिवार न्यायालय का उद्घाटन दिनांक 15-05-2009 को हुआ था। ये तृतीय तल पर न्यायालय भवन के ए व बी विंग में स्थापित किए गए हैं। परिवार न्यायालय, द्वारका में एक सुसज्जित बाल कक्ष व एक सभागार है।

     जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में मध्यस्थता केन्द्र का उद्घाटन दिनांक 09-02-2010 को माननीय न्यायमूर्ति श्री ए.पी. शाह, मुख्य न्यायाधीश, दिल्ली उच्च न्यायालय द्वारा किया गया था। मध्यस्थता केन्द्र में पक्षकारों के बीच मध्यस्थता को सुविधाजनक बनाने के लिए मध्यस्थता केन्द्र में सभी बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध हैं। माता-पिता के साथ आने वाले बच्चों को अनुकूल वातावरण उपलब्ध करवाने हेतु एक अलग बाल कक्ष है।

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में दिनांक 15-03-2010 को विडियो कान्फ्रैंसिंग रूम का उद्घाटन किया गया। विडियो कान्फ्रैंसिंग रूम को जिला न्यायालय, द्वारका व तिहाड़ जेल, रोहिणी जेल, माननीय उच्च न्यायालय तथा दिल्ली स्थित अन्य जिला न्यायालय परिसरों के बीच विडियो कान्फ्रैंसिंग के लिए सुसज्जित किया गया है।

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में दिल्ली विधिक सेवाएँ प्राधिकरण के कार्यालय का उद्घाटन दिनांक 26-07-2011 को किया गया। दिल्ली विधिक सेवाएँ प्राधिकरण का कार्यालय प्रशासनिक ब्लॉक में भूतल पर स्थित है।

     न्यायाधीशों के लिए सातवें तल पर एक पूर्णतया सुसज्जित पुस्तकालय बनाया गया है जहाँ बैठने व पढ़ने के लिए पर्याप्त स्थान व शांत वातावरण है। इस पुस्तकालय में पुस्तकों के अलावा निर्बाध इंटरनेट उपयोग सहित एस सी सी ऑनलाइन सॉफ्टवेयर संस्थापित आठ कम्प्यूटर भी लगाए गए हैं।

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में एक सरकारी औषधालय भी बनाया गया है जिसमें सभी मूलभूत सुविधाएँ हैं जैसे-चिकित्सक का एक कक्ष, दवा कक्ष, ए.एम.एम. कक्ष, लैबोरेटरी व ड्रैसिंग रूम। औषधालय आदि वादियों, वकीलों, गवाहों, आगंतुकों, न्यायिक अधिकारियों, अदालत के कर्मचारियों आदि की चिकित्सा जरूरतों को पूरा करता है।

      इस परिसर में अलग से एक लायर्स चैंबर्स ब्लॉक है। इस भवन के निचले व ऊपरी भूतल पर जन सुविधाओं के लिए स्थान मुहैया करवाया गया है। वर्तमान में भारतीय स्टेट बैंक का एक शाखा, भारतीय स्टेट बैंक का ए.टी.एम., डाकखाना, कैंटीन तथा टी.जे. की एक दुकान चल रही हैं। लायर्स चैंबर ब्लॉक में नोटरी, स्टाम्प विक्रेता और याचिका लेखक भी उन्हें उपलब्ध करवाए गए स्थान पर कार्य कर रहे हैं।

      सभाएँ, सम्मेलन, संगोष्ठियाँ आदि के आयोजन के लिए मेन कोर्ट बिल्डिंग के सातवें तल पर एक सभागार भी बनाया गया है। इसमें 84 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता है।  

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में अलग से एक प्रशासनिक ब्लॉक है जो कि मुख्य न्यायालय भवन से जुड़ा हुआ है। इसमें जाने के लिए आम जनता के लिए अलग से प्रवेश द्वार है।

      जिला न्यायालय परिसर, द्वारका में एक सहजभेद्य गवाह बयान न्यायालय की स्थापना की जा रही है जो कि शीघ्र ही कार्य करना आरंभ कर देगा।

 
 
 
पता :
जिला न्यायालय द्वारका
नई दिल्ली 110075
 
दावात्याग
कॉपीराइट © 2013. दिल्ली जिला न्यायालय, सर्वाधिकार सुरक्षित .